Pradhan Mantri Awas Yojana 2019 | प्रधानमंत्री आवास योजना

Pradhan Mantri Awas Yojana [PMAY] भारत सरकार के शहरी विकास मंत्रालय (Ministry of Housing and Urban Affairs) की महत्वकांक्षी योजना है| सरकार का लक्ष्य है कि, प्रधानमंत्री आवास योजना के माध्यम से शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले बेघर लोगों को रहने के लिए घर (House) उपलब्ध कराना है| हिंदुस्तान में हर एक नागरिक का अपने घर का सपना (Our house Dream) साकार हो सके इसके लिए, सरकार ने एक योजना बनाई|

17 जून 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने Housing For all Yojana (हाउसिंग फॉर ऑल) योजना की घोषणा करते हुए इस योजना (Scheme) की शुरुआत की थी|

अगर आप भारतीय नागरिक हैं, और आपके पास रहने के लिए खुद का कोई घर (House) नहीं है| ऐसे में प्रधानमंत्री आवास योजना आपके लिए एक बेहतर विकल्प है|

Pradhan Mantri Yojana 2019 House Demo

शुरुआती दौर में जहां इस योजना का लाभ केवल गरीब वर्ग के लिए था, तो वहीं अब इस योजना का दायरा बढ़ा दिया गया है| सरकार ने अब इसमें शहरी गरीब और मध्यम वर्ग को भी शामिल कर दिया है|

इस योजना के तहत सरकार घर के लिए 18 लाख रुपये तक लोन देती है| जो पहले 03 लाख रुपये से 06 लाख रुपये तक था|

प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) का जिक्र आते ही लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठने शुरु हो जाते हैं| उनके सवालों के सारे जवाब इस पोस्ट में मिल जायेंगे|

आइए, हम आपको प्रधानमंत्री आवास योजना की तमाम जानकारियों (All About PMAY) से बिंदुवार आपको अवगत कराते हैं|

Pradhan Mantri Awas Yojana 2019 Info

  • प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ (Benefits) लेने के लिए क्या नियम हैं?
  • आवेदक की पात्रता (Eligible Criteria ) क्या होनी चाहिए
  • योजना के लिए सरकार ने कौन कौन सी श्रेणियां बनाई हैं
  • किस आय वर्ग के लोग इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र हैं
  • इस योजना के लिए सरकार कितनी सब्सिडी (Subsidy) दे रही है
  • Pradhan Mantri Awas Yojana के लिए सरकार कितना लोन दे रही है
  • आवास योजना का लाभ लेने के लिए कौन-कौन से दस्तावेज संलग्न किये जायेंगे
  • योजना (Schemes Benefit) का लाभ कितने दिन में मिल सकता है

इन सारे सवालों के जवाब (Question) पढ़ने के बाद, उम्मीद करते हैं कि Pradhan Mantri Awas Yojana को लेकर आपके मन में किसी भी तरह की कोई शंका नहीं रह जाएगी|

प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ कौन ले सकता है?

  • ऐसे लोग जिनके पास खुद का पक्का मकान (RCC House) नहीं हो
  • उस जगह का मूल निवासी हो जहाँ के लिए आवेदन (Apply) किया जायेगा
  • वार्षिक आय 3 लाख रुपए से कम हो
  • राशनकार्ड और आधार कार्ड(Adahr Card) धारक हो
  • शासन द्वारा पूर्व में किसी आवास योजना का लाभ (Benefit) न लिया हो
  • सकारी कर्मचारी न हो
  • किसी भी तरह का दुपहिया, तीन पहिया या चार पहिये वाला मशीनी वाहन न हो

सबसे पहले तो आपको यह जानकारी जान लेनी चाहिए, अगर आपके पास पहले से रहने के लिए पक्का मकान (Cemented House) मौजूद है, तो आप इस योजना का लाभ नहीं ले सकते|

प्रधानमंत्री आवास योजना का एकमात्र उद्देश्य (Aim) यह है कि हर भारत के नागरिक के पास अपना पक्का मकान हो|

प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ उसे ही मिलेगा जिसके पास पहले से कोई पक्का मकान नहीं होगा|

अगर आप केंद्र सरकार (Central Government) की इस महत्वाकांक्षी योजना का लाभ लेना चाहते हैं, तो सबसे पहले ये सुनिश्चित करना जरुरी होगा कि आप किस आय (Income) वर्ग के अंतर्गत आते हैं|

Pradhan Mantri Awas Yojana Eligibility In Hindi

अगर आपकी वार्षिक आय 03 लाख रुपये से 06 लाख रुपये तक है तो आपको ब्याज पर ज्यादा सब्सिडी मिलेगी|

अगर आप 06 लाख रुपये से 12 लाख रुपये वर्ग और 12 से 18 लाख रुपये वार्षिक आय वर्ग में आते हैं, तो भी आपको इस योजना का लाभ मिलेगा लेकिन इस आय वर्ग के लोगों के लिए सब्सिडी की दर कम होगी|

इस योजना की दूसरी सबसे बड़ी शर्त यह है कि किसी भी आवेदन करने वाले के परिवार में किसी भी दूसरे सदस्य को, भारत सरकार की किसी भी तरह की आवास योजना का लाभ नहीं मिला हो|

अगर परिवार के किसी भी सदस्य ने सरकार की किसी भी आवास योजना का लाभ ले लिया है तो वह प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए आवेदन नहीं कर सकता है|

प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ लेने के लिए तीसरी सबसे बड़ी शर्त, यह है कि इसके लिए आवेदन करते वक्त अविभाजित परिवार के सभी सदस्यों (All Members) का आधार कार्ड (Adhar Card) का नंबर देना अनिवार्य होता है|

इन सदस्यों में पति, पत्नी और अविवाहित बेटे और बेटी शामिल होते हैं| बेटा या बेटी शादी के बाद अलग परिवार माने जाएंगे और अलग से आवेदन करने के पात्र हैं|

यहां एक और बात ध्यान देने योग्य है कि कुंवारे बेटे या बेटी को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नहीं मिलेगा. एक और शर्त के अनुसार अगर कुंवारा बेटा या बेटी नौकरी पेशा (Employ) हैं और बालिग हैं तो उन्हें इस योजना का लाभ मिल सकता है|

शादीशुदा बेटे और बेटी माता पिता से अलग परिवार माने जाते हैं| पति और पत्नी दोनों इस योजना का लाभ नहीं ले सकते| यानी कि बेटे बहू या बेटी दामाद के नाम पर हर हाल में एक ही मकान पर सब्सिडी मिल सकती है|

बेटे बहू या बेटी दामाद की मर्जी होगी कि मकान का मालिकाना हक इनमें से कोई एक अपने पास रखें या फिर दोनों साथ साथ|

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए नियम एवं शर्तें

इस योजना के लिए सबसे पहली शर्त यह है कि आवेदन के पास कोई भी पक्का मकान नहीं होना चाहिए, या फिर आवेदन करने वाले व्यक्ति के परिवार के किसी भी सदस्य को केंद्र सरकार अथवा राज्य सरकार की किसी भी आवास योजना का लाभ नहीं मिल रहा हो|

आवेदन परिवार की महिला के नाम से ही हो सकता है| आवेदक महिला की आयु 21 वर्ष से 55 वर्ष के बीच होनी चाहिए| आवेदक महिला के नाम पर कोई पक्का मकान नहीं होना चाहिए|

Pradhan Mantri Awas Yojana For Rural Area In Hindi

शहरी क्षेत्र के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना

Pradhan Mantri Awaas Yojana Shahri PMAY
प्रधान मंत्री आवास योजना- शहरी

सबसे पहले यह जानना बेहद जरुरी है कि आपको प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना का लाभ उसी क्षेत्र में मिलेगा, जिस शहरी क्षेत्र के आप नागरिक हैं|

2011 की जनगणना को आधार मानते हुए केंद्र सरकार ने विभिन्न राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के करीब 500 छोटे बड़े शहरों को इस योजना का हिस्सा बनाया है|

शहरी क्षेत्र में इस योजना को [Credit Linked Subsidy Scheme In Hindi] क्रेडिट लिंक सब्सिडी स्कीम नाम दिया गया है|

जिन लोगों की आमदनी सालाना 03 लाख रुपये से 06 लाख रुपये तक है, उन्हें शहरी क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ  मिलता था|

सालाना छह लाख रुपये कमाने वाले लोग एलआईजी कैटगरी में आएंगे| दोनों वर्ग के लाभ लेने वालों को 6.5 प्रतिशत तक ब्याज में छूट मिलेगी|

केंद्र सरकार ने योजना को सफल होता देख इसे 18 लाख रुपये सालाना आमदनी वाले लोगों के लिए भी शुरु कर दिया है|

12 लाख रुपये तक की सालाना आमदनी वाले लोगों को एमआईजी 2 कैटगरी में रख गया है|

पहली कैटगरी वाले लाभकों के लिए 09 लाख रुपये तक के होम लोन के लिए चार प्रतिशत है|

और दूसरी कैटगरी वाले लोग 12 लाख रुपये तक के लोन पर 03 फीसदी ब्याजद सब्सिडी का लाभ ले सकते हैं|

12 लाख रुपये से अधिक का लोन लेने पर बाकी रकम पर ब्याज दर सामान्य रुप से चलेगी| लोन चुकाने के लिए अधिकतम समय सीमा 20 साल (Years) होगी|

Pradhan Mantri Awas Yojana Gramin

ग्रामीण क्षेत्रों के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना

Pradhan Mantri Awas Yojana Gramin
प्रधान मंत्री आवास योजना- ग्रामीण

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण को दिल्ली और चंडीगढ़ को छोड़कर, पूरे देश में लागू किया गया है|

इस योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्र में घरों के रख रखाव और उनके जीर्णोद्धार के लिए, 2 लाख रुपये की राशि को 03 प्रतिशत (3%)  की ब्याज दर से उपलब्ध कराया जाएगा|

लाभकों का चयन ग्राम सभा के माध्यम से तय किया जाएगा| इसमें आवास की कमी जैसे सामाजिक मापदंडों के आधार पर ग्राम सभा के चयन के पश्चात (After That) लाभ दिया जाएगा|

(PMAY) के लिए पात्रता

इस योजना का लाभ ऐसे लोग नहीं ले पाएंगे जिनके पास नीचे दी गयी सूची में से उनके पास कुछ होगा| वे नहीं होंगे इस योजना के पात्र|

  • जिनके पास टू, थ्री, फोर व्हीलर या फिशिंग बोट (Fishing Boat) हो
  • मशीनी कृषि उपकरण जैसे ट्रेक्टर हो
  • घर का कोई सदस्य सरकारी कर्मचारी हो
  • जिसके घर के किसी सदस्य की कमाई दस हजार रुपये मासिक से अधिक हो
  • आयकर भरने वाले लोग इस योजना के पत्र नहीं होंगे
  • घर में लैंडलाइन सुविधा वाला फोन लगा हो
  • फ्रीज या वॉशिंग मशीन हो
  • 7.5 एकड़ या उस से अधिक की ज़मीन का मालिक हो
  • दो या अधिक फसलों के मौसम के लिए 5 एकड़ (5 Hector) या उससे अधिक सिंचित भूमि का मालिक हो

इन सबकी पात्रता रखने वाले हितग्राही प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण का लाभ नहीं ले सकेंगे|

आवास संरचना

इस योजना के तहत जिन लोगों के पास जमीन नहीं होगी, सरकार उन्हें 30 स्कवायर मीटर से लेकर 60 स्कवायर मीटर तक जमीन भी उपलब्ध कराती है|

सरकार का इस योजना को लेकर सिर्फ एक ही उद्देश्य है कि हर कीमत पर सभी भारतीय नागरिकों के पास अपना पक्का मकान होना चाहिए, चाहे वो शहरी क्षेत्र के हो या ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले हों|

यही वजह है कि भारत सरकार (India Government) लगातार आवास योजना के नियमों में छूट दे रही है, और आवश्यक्तानुसार बदलाव भी करती जा रही है|

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए आवेदन कहाँ करें?

How To Apply For Pradhan Mantri Awas Yojana Subsidy

प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) के लिए हुडको एवं नेशनल हाउसिंग बैंक (National House Bank) के अलावा बैंक, हाउसिंग कंपनी, स्मॉल फाइनेंस बैंक (Small Finance Bank), क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक एवं कई सार्वजनिक वित्तीय संस्थानों में आप लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं|

इसके अलावा नगर निकायों में भी आवेदन (Application) लेने की व्यवस्था की गई है जिसके लिए वार्ड पार्षद से भी संपर्क किया जा सकता है. अगर आप ग्रामीण क्षेत्र के निवासी हैं तो मुखिया, पंचायत सेवक या ग्राम प्रधान से संपर्क (Contact) कर सकते हैं|

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए सीधे आवेदन किया जा सकता है| उपरोक्त एजेंसी या बैंक से फार्म मांगे या फिर इंटरनेट (Internet) से सीधे डाउनलोड कर लें|

फॉर्म डाउनलोड करने के बाद मांगे गए विवरणों के बारे में जानकारी (Details) भरें| भरने के बाद इसे संबंधित विभाग में जमा कर दें| हमें उम्मीद है कि आपको हमारा ये आलेख पसंद आया होगा और आपके लिए बेहद लाभकारी और उपयोगी साबित होगा|

Official Disclaimer

प्रधानमंत्री आवास योजना [PMAY] के नाम पर फर्जीवाडा रोकने के लिए भारत सरकार द्वारा डिस्क्लेमर Disclaimer जारी किया गया है| अगर कोई व्यक्ती या संस्थान [PMAY] के नाम पर अथवा उसका प्रतीक चिन्ह (Logo) का किसी तरह का दुरूपयोग करता पाया गया तो उस पर कानूनी कार्यवाही हो सकती है|

आपको बता दें कि इस योजना के अंतर्गत संबंधित शहरी और स्थाानीय निकायों द्वारा नि:शुल्कव ऑफलाइन एवं ऑनलाइन मांग सर्वेक्षण किया जाता है। पात्र लाभार्थियों द्वारा स्वरयं भी मंत्रालय की वेबसाईट के माध्यऑम से ऑनलाइन पंजीकरण किया जा सकता है|

राज्यों /संघ राज्ये क्षेत्रों की सरकार द्वारा कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से भी पंजीकरण की सुविधा नाममात्र की लागत रूपये 25/- (वस्तु एवं सेवा कर अतिरिक्त) पर उपलब्ध कराया जा रहा है|

सर्व साधारण को यह भी सूचित किया जाता है कि इस मंत्रालय ने पीएमएवाई(यू) मिशन के अंतर्गत किसी प्रकार का लाभ प्राप्त करने के लिए किसी निजी संस्थान अथवा व्यनक्ति को धनराशि एकत्र करने हेतु प्राधिकृत नहीं किया है|

नागरिकों को यह परामर्श दिया जाता है कि वे इस संबंध में किसी प्रकार का संदेह होने के मामले में निम्नदलिखित संपर्क नम्बकर/ई-मेल आईडी पर सत्या्पन कर सकते हैं ।

श्री राज कुमार गौतम
निदेशक (एचएफए-V),
आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय,
कमरा सं. 118, जी विंग, एन.बी.ओ. बिल्डिंग,
निर्माण भवन,
नई दिल्ली-110011
दूरभाष -011-23060484, 011-23063285
ई-मेल: [email protected], [email protected]

कोई भी व्योक्ति अथवा संस्था इस मंत्रालय का नाम अथवा प्रतीक चिन्ह (लोगो) का अनधिकृत रूप से उपयोग करता पाया जाता है तो वह कानूनी कार्रवाई के लिए जिम्मे दार होगा|

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *