Beti Bachao Beti Padhao Yojana 2019 | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना

हमारे देश में बेटियों के जीवन और उनके शिक्षा स्तर (Education) को बेहतर बनाने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा Beti Bachao Beti Padhao Yojana को लागू किया है| आपको इस पोस्ट में Beti Bachao Beti Padhao Scheme की सारी जानकारी उपलब्ध है|

पिछले कई सालों से हम देख रहे हैं, भारत में बेटियों की अपेक्षा बेटों को ज्यादा महत्व दिया जाता है| और कई बार उनको पढ़ाई पूरी (Complete Education) नहीं करने दी जाती|

Useful Links

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का उद्देश्य भारत के लोगों को जागरूक करके, बेटियों के प्रती उनमें सकारात्मक (Positive Thinking) सोच पैदा करना है| लड़कियां (Girls) भी वो सारे काम (Work) बेहतर तरीके से कर सकतीं हैं, जो काम लड़के कर सकते हैं|

Beti Bachao Beti Padhao Yojana In Hindi

हमारे देश में आज कई परिवार [Beti Bbachao Beti Padhao Scheme Benefits] बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना लाभ ले चुके हैं|

हमारे देश में हमेशा से ही महिलाओं के अधिकारों को नीचे दबाया जाता है| और उन्हें उनका हक़ (Rights) नहीं दिया जाता है| भारतीय लोगों की यही सोच, भारत को पीछे धकेलती जा रही है|

क्योंकि कुछ लोगों का मानना है कि, अपने घर को और हमारी इज्जत (Reputation) को बढ़ावा सिर्फ लड़के ही दे सकते हैं| और केवल लड़के ही ऐसा काम कर सकते हैं, जिससे घर का नाम रोशन (Proud Feel) हो सकेगा|

इसी वजह से लोग लड़कियों को पैदा होना अशुभ मानते हैं| और भारत में कई ऐसी जगह हैं जहाँ लडकियां पैदा होते ही उनकी हत्या कर दी जाती जाती है| जिसकी वजह से भारत में दिन व दिन लिंगानुपात (Human sex ratio) गिरता जा रहा है|

Beti Bbachao Beti Padhao Scheme Benefits In Hindi

इन सभी बातों को गंभीरता से लेते हुए, देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 22 जनवरी 2015 को [Pradhan Mantri Beti Bachao Beti Padhao Yojana] की शुरुआत की गयी|

इस योजना की शुरुआत सबसे पहले 100 ऐसे जिलों में की गयी, जहाँ लड़कों की अपेक्षा लड़कियों का निम्न लिंगानुपात था|

Government Schemes For Girl In Hindi

देश में तेज़ी से गिरते लिंगानुपात (Human Sex Ratio) को देखते हुए भारत सरकार, बेटियों के हक़ में काफी योजनायें, स्कीमें चला रही है|

  • लाडली लक्ष्मी योजना
  • ‘प्रधानमंत्री सुकन्या सम्रद्धि योजना’
  • भाग्य श्री योजना
  • धनलक्ष्मी योजना
  • ‘मुख्यमंत्री शुभ लक्ष्मी’ योजना

(Central Government) की इस योजना का उद्देश्य ये है कि बेटियाँ कुछ ऐसा कर दिखाएँ की अपनी बेटी पर अपने पिता को गर्व महसूस (Proud Feel) हो|

इसलिए सरकार बेटियों के हक़ में लड़ाई लड़ रही है, और काफी योजनायें (Schemes) इनके लिए चला रही है| जिससे बेटियाँ अपने पिता के ऊपर सिर्फ बोझ बनकर न रहें|

ऐसी और भी अन्य योजनायें (Other Schemes) हैं जो की केंद्र सरकार (Central Government) और राज्य सरकार (State Government) द्वारा चलाई जा रहीं हैं| जिन्हें शुभारंभ करने का मकसद भारत की बेटीओं को बढावा देना है|

इन्हीं योजनाओं में से एक है ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ योजना, (PMBBBPY) जिसकी शुरुआत देश में 22 जनवरी,2015 को की गई थी| और जिसे निम्न लिंगानुपात वाले 100 जिलों में प्रारंभ किया गया है।

Government Schemes For Girl In Hindi

सभी राज्यों संघ शासित क्षेत्रों को कवर 2011 की जनगणना (Population) के अनुसार, निम्न बाल लिंगानुपात के आधार पर प्रत्येक राज्य में कम से कम एक ज़िले के साथ 100 जिलों का एक पायलट जिले (Pilot District) के रूप में चयन (Choose) किया गया है|

Beti Bachao Beti Padhao Aim In Hindi

‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना’ का मुख्य उद्देश्य’

जब भी केंद्र सरकार या राज्य सरकार द्वारा कोई योजना चलाई जाती है| तो उस योजना का कोई न कोई उद्देश्य जरुर होता है| ठीक उसी प्रकार बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना का उद्देश्य भी काफी बड़ा है|

  • भारत में गिरते लिंगानुपात को रोकने के लिए ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना’ बनाई गयी
  • लड़के और लड़कियों के बीच के भेदभाव (Distance) को कम करना
  • बालिकाओं के अस्तित्व की रक्षा
  • उनके लिए बेहतर शिक्षा सुनिश्चित करना
  • बेटियों की सुरक्षा सुनिश्चित करना
  • समाज में बराबरी का दर्जा दिलवाना
  • उच्च शिक्षा का लक्ष्य प्राप्त करना

भारतीय बेटीओं को समाज (Society) में एक स्थान देना| भारत में पिछले कई सालों से बेटियों (Girl’s) का पैदा होना, एक अपराध के स्वरुप माना जाता है, और उन्हें समाज में इतनी इज्जत (Reputation) नहीं मिलती थी|

लेकिन जब से केंद्र सरकार (Central Govt.) और राज्य सरकार (State Govt.) इस विषय पर ध्यान दे रही हैं, तब से बेटीओं को समाज में बढावा दिया जाने लगा है|

जैसा की हम अपनी इस पोस्ट में ऊपर भी बता चुके हैं,  भ्रूण हत्या (Abortion) करना साधारण माना जाने लगा है| और बेटी पैदा होते ही कई जगहों पर तुरंत उनकी हत्या कर दी जाती है|

ऐसे अपराध को रोकने के लिए ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना’ चलाई गई थी| जिससे एक बाप को ये न लगे कि लड़की पैदा होना एक बोझ की तरह है|

आज कल हम अपने आस पास, रिश्तेदारों, टीवी और सोशल मीडिया आदि पर देखते हैं कि लोग अपने बेटों को पढ़ने के लिए बड़े बड़े स्कूल, कॉलेज भेजते हैं| जिनकी फीस आसमान को छूती नज़र आती है|

लेकिन जब हम देखते हैं की वही पिता अपनी बेटी को सरकारी स्कूल, कॉलेज में शिक्षा प्राप्त करने के लिए भेजता है| क्योंकि उस पिता की सोच है, कि मेरा बेटा पढ़ लिखकर कुछ (Businessman) बन जायेगा, तब अपने घर को चलाएगा और हमें सुख देगा|

लेकिन वह सोचता है की अगर लड़की को पढ़ाने के लिए पैसा खर्च करूँगा तो मुझे उससे कोई लाभ नहीं है| उसकी शादी कर दूंगा, वेसे भी वो मेरे लिए पराई ही है और शादी के बाद उसको ससुराल जाना है|

Beti Bachao Beti Padhao Yojana

ऐसी सोच में परिवर्तन (Thinking Change) लाने, और शिक्षा के क्षेत्र में लड़कियों को मदद देने के लिए Beti Bachao Beti Padhao Yojana को प्रारंभ किया गया है|

Beti Bachao Beti Padhao Scheme Benefits In Hindi| ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना’ के लाभ

‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ योजना के अंतर्गत खाता खोलते हैं तो उसमें, आपको 1000 रूपए प्रति महिना यानि 12000 रूपए प्रति वर्ष जमा करने होंगे|

ऐसा 14 सालों तक होगा| जिसमे आपकी कुल धनराशी 1 लाख 68 हज़ार होगी लेकिन जैसा की Beti Bachao Beti Padhao Policy Details में दर्शाया गया है|

जब आपका खाता परिपक्व होता है तो, इसमें आपको  6 लाख 7 हज़ार सौ रूपए प्रदान किये जायेंगे| आप यदि 1 लाख 50 हज़ार की धनराशि प्रति वर्ष जमा करते हैं|

तो 14 साल में आपके 21 लाख रूपए ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ योजना के अंतर्गत जमा हो जायेंगे और बेटी की शादी में या कभी आप इस अकाउंट को बंद करवाते हैं तो आपको 74 लाख की राशि केंद्र सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी|

How To Apply Beti Bachao Beti Padhao Yojana| बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना’ के लिए आवेदन कैसे करें

यदि आप इस योजना के लाभ के बारे में पूरी तरह से समझ चुके हैं और इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन करना चाहते हैं| तो नीचे दिए गए बिन्दुओं (Points) को ध्यानपूर्वक देखें|

  • अपनी बेटी का खाता किसी नजदीकी बैंक में खुलवाएं, जो इस योजना के अंतर्गत आते हैं
  • देश के अधिकतर बैंक ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ योजना के अंतर्गत आता है|
  • बिना ‘सुकन्या सम्रद्धि योजना’ खाते के, आप इस योजना का लाभ नहीं ले सकते

अपनी बेटी का खाता इस योजना के अंतर्गत खुलवाने के बाद, आपको उसी बैंक से ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ 2019 के अनतर्गत आने वाला ‘सुकन्या सम्रद्धि योजना’ (Sukanya Samriddhi Yojana) का फॉर्म लेना होगा|

How To Apply Beti Bachao Beti Padhao Yojana

इस फार्म को अच्छे तरीके से भरकर और साथ ही अन्य जरूरतमंद दस्तावेज (Needed Documents) उसके साथ लगाकर उसी बैंक में जमा करा दें|

आपको जानकारी के लिए बता दें कि ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ योजना ‘सुकन्या सम्रद्धि योजना’ के अंतर्गत ही आती है|

‘सुकन्या सम्रद्धि योजना’ के अंतर्गत आपको प्रति वर्ष 9.1% के हिसाब से ब्याज दिया जायेगा| अधिक जानकारी के लिए आप हमारी ये पोस्ट Sukanya Samriddhi Yojana In Hindi देख सकते हैं|

Beti Bachao Beti Padhao Documents Required | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना में लगने वाले आवश्यक दस्तावेज

  • अपनी बेटी का जन्म प्रमाणपत्र (Birth Certificate)
  • बेटी के माता पिता दोनों का आधार कार्ड (Adhar)
  • मूल निवासी प्रमाणपत्र
  • राशन कार्ड (Ration Card)
  • वोटरकार्ड माता और पिता दोनों का
  • चाइल्ड आईडी (Child ID)

इस योजना का आवेदन करने से पहले रखें यह सावधानियां

  1.  इस खाते को खोलने के बाद कम से कम 1000 (1K RS) रूपए अपने खाते में रखें
  2. अन्यथा बैंक द्वारा यह अकाउंट बंद भी किया जा सकता है
  3. ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ योजना का खाता अपनी बेटी के नाम से होना (Compulsory) अनिवार्य है
  4. यदि वह 10 साल से कम उम्र की है तो उसके माता-पिता इस खाते को ऑपरेट कर सकते हैं
  5. इस खाते में कम से कम 100 रूपए प्रति वर्ष जमा करना अनिवार्य है
  6. ‘सुकन्या सम्रद्धि योजना’ के खाते में अधिकतम 1 लाख 50 हज़ार रूपए प्रति वर्ष जमा किये  जा सकते हैं

People Also Related This Search

  • Beti Bachao Beti Padhao Yojana In Hindi
  • PM Modi Girls Scheme In Hindi
  • Beti Bachao Yojana Ka Lakh kaise Le
  • Sukanya Yojana In Hindi
  • Beti Bachao Beti Padhao Policy Details In Hindi
  • BBBP Scheme 2019 Detailed Information
  • Beti Bachao Beti Padhao Scheme In Hindi
  • Beti Bachao Beti Padhao Essay In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *